Header Ads

Samay Ka Sadupyog Par Nibandh - Hindi Essay

Samay Ka Sadupyog Par Nibandh - Hindi Essay- Essay on Value of Time

Samay Ka Sadupyog Par Nibandh आपको पूरा 1000 Word से भी ज्यादा का है। Samay Ka Sadupyog Par Nibandh और Essay On Samay KA Mahatva In Hindi के साथ आपको कुछ लाइन्स भी जैसे की paragraph on samay ka mahatva in hindi वो थोड़ी lines भी बहुत ही अच्छी है। 



Hindi Essay

प्रस्तावना :
          हमारे जीवन में समय की महत्वपूर्ण भूमिका है। मानव जीवन  मे समय का अत्यधिक महत्व है। समय एक ऐसा चक्र है जो न किसी के लिए रुकता है और न किसी के लिए वापस आता है। लोग कहते है की समय बड़ा अजीब है इस के साथ चलो तो किस्मत बदल जाती है और न चलो तो ये किस्मत को ही बदल देता है। हर व्यक्ति जो समय के महत्व को समझता है वही व्यक्ति इस का सही उपयोग कर के प्रगति के रास्ते पर चल सकता है। पर  दूसरी तरफ वे लोग जो समय को महत्व नहीं देते है वो  लोग जीवन भर असफल रहते है। समय के महत्व को पहचनना वही समय का सदुपयोग है। बिता हुआ समय कभी वापस नहीं आता। समय किसी का दस् नहीं है।  



            दुनिया में केवल समय ही है जो हर इंशान को सिमित मात्रा में मिला है बाकि सब चीजे सिमित मात्रा में मिल सकती है। समय अपनी ही गति से चलता है। समय का मूल्य न करने वाला व्यक्ति खुद अपना  ही सत्यनास करता है 
             एक शायर ने भी लिखा है : 
                        "गया वक्त कभी लोट कर नहीं आता" 

समय बड़ा बलवान :
        समय बड़ा बलवान है। भगवन की बनाई गई इस सृष्टि  सृस्टि में केवल समय ही बलवान माना गया है।  समय चाहे तो इंशान को रंक  से राजा और राजा से रंक बना सकता है। (Samay Ka Sadupyog Par Nibandh)इस के कहर से राजा महाराजा तक घबराते है,और हर एक इंशान चाहता है की समय उसकी मुट्ठी  में रहे। आज समय गवाने का अर्थ है प्रगति की रह में स्वयं को पीछे धकेलना। हमारे जीवन में प्रत्येक क्षण महत्वपूर्ण है क्युकी जो पल एक बार गुजर जाते है वे कभी लौट कर हमारे जीवन में वापिस नहीं आता। 

समय सिमित है :
        मनुस्य  के जीवन में नपा- तुला ही समय होता है। जब हम अधिकांश समय व्यर्थ कामो में नष्ट कर देते है तब हमें होश  आता है। एक कहावत भी है "अब पछताने से क्या होत जब चिड़िया चुक गई खेत।" इसी लिए सृष्टि का प्रत्येक मनुस्य को समय का स्वीकार करना पड़ता है।  हमारा जीवन समय के परकोटे में बंध है। ईशवर ने जो हमें वक्त दिया है इसमें एक भी क्षण की वृद्धि होना असंभम  है।  जिस राष्ट के व्यक्ति समय का महत्व समझते है वही राष्ट समृद्धशाली होता है। जो समय को व्यर्थ गवाता है वो व्यक्ति मुर्ख है और वो जीवन भर पतन के मार्ग की तरफ ही जाता है  

एक अच्छा चिकित्सक :
            हमरे जीवन में समय एक चिकित्सक का काम भी करता है।  समय हमारे जीवन में बड़े से बड़े गांव भरने मे सक्षम है। समय बड़ा ही अजीब है एक दिन आपके हक़ में  रहता है तो एक दिन आपके खिलाफ समय जिस दिन आपके हक़ में हो तो गुरुर मत करना और जिस दिन आपके खिलाफ हो तो थोड़ा सा सब्र जरूर करना क्युकी समय हमारे जीवन के बड़े से बड़े घाव को भर सकता है। 
       अगर आप   आप जीवन में कुछ करना चाहते है कुछ बनना चाहते है तोतो आपके लिए ये अनिवार्य है की आप समय की कीमत को समजे।  अगर हमें समय का सदुपयोग करना सही से आ जाये तो हम मुश्किल से मुश्किल समय में भी हम आपने कार्य करने में सक्षम हो जाएंगे। समय का सदुपयोग करना ही हमारे जीवन में "संतुलन और सफलता लता है।"  समय सबसे बड़ा सौदागर होता है जो हर पल आपके जीवन के साथ खेलता है   

दो लाइन  समय पर 

           अहंकार में तीन गए ,धन ,वैभव और वंश , ना मनो तो देख लो रावण ,कौरव और कंश 
            जब आप गुजरे  समय पर अफ़सोस कर रहे होते है उस समय भी आपका समय गुजर  होता है।  
             आपके पास अपने सपनो को हकीकत देने का समय केवल आज का ही है कोण जाने कल आपके पास समय हो न हो !        (Samay Ka Sadupyog Par Nibandh)    दो अक्षरो का होता है लक, ढाई अक्षरो का होता है भाग्य ,तीन अक्षरो का होता है नसीब ,साडे तीन अक्षर का होता है किस्मत पर चारो के चार ,चार अक्षर की महेनत से छोटे ही होते है।  अमूल्य धन :
            समय अमूल्य धन है।  हमारा सबसे बड़ा कर्तव्य है की हम सुबह जल्दी उठ कर हमें जो कार्य करना है वो तय कर ले और दिन भर कार्य करके उसे समाप्त कर ले और उस से भी समय बचे तो अन्य कलाऐ सिखने में व्यस्त कर दे। हमें युही समय को बर्बाद नहीं करना चाहिए थोड़ा मनोरंजन करना भी जीवन में आवश्यक है। हमें आज का कोई भी कार्य कल पर नहीं छोड़ना चाहिए आज और अभी वो कार्य को पूर्ण करना चाहिए।  



समय का उपयोग :
          समय बहोत कीमती हैऔर गतिमान है।  इसे आप आभूषण बनाकर नहीं रख सकते हो इस पर किसी का अधिकार नहीं है लेकिन समय का सदुपयोग कर के आभूषण बना कर रखा जा सकता है अन्यथा ये नष्ट हो जाता है। समय का उपयोग धन के उपयोग से कही अधिक महत्वपूर्ण है क्युकी धन भी समय पर निर्भर होता है 

सुखो की प्राप्ति :
         समय का सदुपयोग करने वाले मनुष्योंको सभी तरह के सुखो की प्राप्ति होती है।  जो व्यक्ति हर एक कार्य समय पर करता है उस व्यक्ति को कोई व्यग्रता नहीं रहती।  समय पर कार्य करने वाला व्यक्ति केवल अपना ही भला नहीं करता बल्कि अपने परिवार वालो का भी भला करता है। समय का सदुपयोग करने वाला व्यक्ति धनवान ,अकल्मन्द और बुद्धिशाली ,शक्तिशाली हो सकता है और खुद लक्ष्मी उसकी दासी बन जाती है।  

समय का सदुपयोग बचपन से :
          समय का सदुपयोग हमें बचपन से ही करना चहिए। समय का महत्व समझते हुए ,हमें इसका सही सदुपयोग बचपन से ही करना चाहऐ।  हमें वाल्यकाल से ही समय के सदुपयोग की आदत डालनी चाहिए।  पढ़ने के समय पढ़ना चाहिए और खेलने के समय खेलना चाहिए।  जो व्यक्ति हंमेशा आपने रोजाना कामो मे व्यस्त रहेगा वो व्यक्ति कभी व्यर्थ कामो में अपना समय व्यर्थ नहीं करेगा  

समय एक कुंजी :
        समय वह कुंजी है जिससे किसी भी मार्ग का दरवाजा खोला जा सकता है।  आज इस दुनिया में जितने भी सफल और असफल लोग है सभी के साथ समय ने खेल खेला हुआ है। जिसने सही से और सही दिशा में खेल खेला वो सफल लोगो की श्रेणी में आ गया और जिसने समय के साथ खेल खेला वो असफल हो गया। आपको जिस कार्य में रूचि है वो काम आप सही तरीके से समय के साथ कदम के साथ कदम मिला कर  काम करना शुरू कर दो सफलता तय है।

सही बाते    :  
          एक सफल व्यक्ति वह है जो ओरो ध्वारा फेके गए ईंटो से एक मजबूत नीव बना सके 

     " हर दो मिनिट की शोहरत के पीछे आठ घंटे की कड़ी महेनत होती है "
       " वक्त ,दोस्त और रिश्ते वो चीजे है जो हमें मुफ्त मिलती है मगर इनकी कीमत तब पता चलती है जब ये कही खो जाती है "

Paragraph On Samay Ka Mahatva In Hindi

उपसंहार :
       समय का सदुपयोग केवल हमें ही नही बल्कि प्रत्येक व्यक्ति को करना चाहिए।  जिस प्रकार तर और गोली निकल जाने पर वे कभी वापिस नहीं आती उसी प्रकार बिता हुआ समय कभी वापिस लौट कर नहीं आता है।  हम मनुष्यो का जीवन काफी  छोटा है।  हमें इसे व्यर्थ नहीं गवाना चाहिए।       
        " इंतजार मत करो जितना तुम सोचते हो जिनगी उससे कही ज्यादा तेजी से निकल रही है 

More Essay

My School Essay In Hindi

Pradushan Par Nibandh In Hindi

Tajmahal Essay

Sardar Patel Essay

No comments

Powered by Blogger.